( What is cryptocurrency in hindi ,and what is bitcoin in hindi, what is blockchain in hindi)आज कि इस बदलती दुनिया मे जब लग्भग हर फील्ड मे डिजिटल क्रांति आ रही है जब से इंटरनेट का उपयोग ज्यादा से ज्यादा होने लगा और सूचना और टेक्नोलॉजी में ज्यादा विकास होने लगा तब से लगभग हमारे जीवन में इंटरनेट और ऑनलाइन शॉपिंग का काफी प्रभाव पड़ा है उसी की तर्ज पर बात करें तो वह जो पैसे वाला सिस्टम है उसमें कई  नई तकनीक आ रही है उसमें से एक है cryptocurrency या डिजिटल currency  इसका बाज़ार  देखा जाए तो दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम लोग क्रिप्टो करेंसी और इससे जुड़ी हर जानकारी के बारे में आर्टिकल में डिस्कशन करेंगे

What is cryptocurrency?

यह एक वर्चुअल करेंसी होती है जिसको 2009 में स्टार्ट किया गया था और पहली क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन ही  थी यह कोई physical  करेंसी जैसे सिक्के और नोट जैसे नहीं होती है यानी इस करेंसी को हम टच नहीं कर सकते हैं लेकिन यह हमारे डिजिटल वॉलेट में safe रहती है

 इसलिए आप इसको ऑनलाइन करेंसी भी कह सकते हैं क्योंकि यह केवल ऑनलाइन exist करती है बिटकॉइन से होने वाले पेमेंट कंप्यूटर के माध्यम से होता है वैसे आप यह जानते हैं कि हमारे रुपया,डॉलर ,यूरो जैसे करेंसी पर सरकार का कंट्रोल होता है

जैसे सेंट्रल सेंट्रल बैंकिंग का सिर्फ कंट्रोल होता है या किसी देश की सरकार का भी कंट्रोल होता है लेकिन क्रिप्टो करेंसी पर किसी देश सरकार या किसी सेंट्रल बैंक का कोई कंट्रोल नहीं होता है यानी बिटकॉइन ट्रेडिशनल बैंकिंग सिस्टम को फॉलो नहीं करती है 

बल्कि कंप्यूटर वॉलेट से दूसरे वाले के account तक ट्रांसफर होता रहता है ऐसे क्रिप्टो करेंसी केवल बिटकॉइन ही नहीं है बल्कि 5000 से भी अधिक क्रिप्टो करेंसी आज के समय में दुनिया में उपलब्ध है ethirium,libel, libra यह कुछ बड़े cryptocurrency है जिनमें लोग अधिकतर इन्वेस्ट करते हैं फिलहाल सबसे ज्यादा पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन है और यह इतनी पॉपुलर करेंसी है इसका अंदाजा इस बात से लग जाएगा कि दुनिया के बहुत सी कंपनी इस बिटकॉइन में पेमेंट ले रही हैं। और आगे इन कंपनीज के नंबर increase ही होंगे ऐसे ही बिटकॉइन का यूज करके शॉपिंग,डिलीवरी ,फूड, ट्रेवल आदि में इसका यूज किया जाता सकता है।

इसमें कोई मिडिल man नहीं होता है यह ट्रांजैक्शन ज्यादा secure होता है दुनिया में सबसे ज्यादा क्रिप्टोकरंसी यूजर की संख्या अमेरिका,चीन, जापान ,स्पेन में काफी ज्यादा हैं

क्रिप्टो करेंसी को आप एक मीडियम आफ एक्सचेंज की तरह ले सकते हैं जैसे आप दुकान पर जब कोई सामान लेने जाते हैं तो वहा पर जो पेमेंट करते हैं।

लेकिन अगर वही सामान को digital करेंसी में लेंगे  तो वह डिजिटल फॉर्मेट हो जाता है यह इंक्रिप्टेड फॉर्म में होता है इसका मतलब यह सिक्योर फॉर्म में होगा इसको रिकॉर्ड करना काफी मुश्किल होता है दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन है  मार्केट केपीटलाइजेशन (in terms of market capitalization) के अनुसार।

 इसमें प्राइवेट कंप्यूटर्स के द्वारा एक पजल (Puzzle)को सॉल्व किया जाता है इस पजल को सॉल्व करने के बाद आपको एक्स्ट्रा बिटकॉइन reward के तौर पर दिया जाता है इसी की को क्रिप्टो माइनिंग बोलते हैं

और यह सारा काम जिस टेक्नोलॉजी के हेल्प से होता है उसको ब्लॉक चैन बोलते हैं

What is blockchain

2008 के फाइनेंशियल crises के बाद एक person  या किसी कंपनी का नाम यह Satoshi Nakamoto यह क्या है अभी तक कोई sure इंफॉर्मेशन नहीं है यह हो सकता है कंपनी हो या एक person हो इसी ने डिजिटल करेंसी को ले कर के आया था यह आईडिया दिया जो भी पैसे का transection होगा या मनी का और डिजिटल रिकॉर्ड होना चाहिए।  और जाने when 5G service launch in india,what is a supercomputer in Hindi.

आज की डेट में हम जो भी पैसे ट्रांसफर करते हैं उसका रिकॉर्ड सेंट्रल बैंक के पास होता है एक तरह से आप बोल सकते हैं जो बहीखाता बनता है ट्रांजैक्शन का उसी को ब्लॉक चेंज कहते हैं जितना ज्यादा ट्रांजैक्शन होता जाएगा ब्लॉक  chain से उतना ही ज्यादा लंबा होता जाएगा।

What are stable coins

स्टेबल कॉइन भी एक तरह की क्रिप्टो करेंसी बोल सकते हैं लेकिन इसकी वैल्यू डिपेंड करेगी दूसरी करेंसी पर जैसे usd डॉलर यूरो ।
 जैसे आप तीथ usd कॉइन और diem को स्टेबल कॉइन बोल सकते हैं इसमें क्या होगा कि जब डॉलर की वैल्यू पड़ेगी तब इसकी वैल्यू बढ़ेगी  तो इस stable  कॉइन को लेकर बहुत से देश उत्साहित हैं इसमें सबसे ज्यादा प्लस पॉइंट यह है कि इसमें ज्यादा fluctuations देखने को नहीं मिलेगा

क्रिप्टो करेंसी के फायदे क्या है-

क्रिप्टो करेंसी से लेन देन करना काफी आसान हो जाएगा

इसमें किसी सेंट्रल बैंक का कंट्रोल नहीं होगा यह जो ट्रांसफर कर रहा है और जो जिसके  अकाउंट में पैसा जा रहा है उसी के बीच रहेगा इसकी वजह से ट्रांजैक्शन करना काफी आसान हो जाएगा

इसमें जो भी कंपनियां ट्रांजैक्शन करने के लिए कुछ पैसे लेती हैं वह पैसा नहीं लगेगा और डायरेक्ट पैसे ट्रांसफर हो जाएंगे 

इसमें जो भी ट्रांसफेक्शन और लेन-देन होगा और डिजिटली रिकॉर्ड होगा जिसको की ब्लॉकचेन बोलते हैं ट्रांजैक्शन जितना बड़ा होगा ब्लॉकचेन भी उतना बड़ा होगा इससे भविष्य में सभी तरह की लेनदेन का रिकॉर्ड रख सकते है

क्रिप्टो करेंसी  की समस्याएं क्या है 

इसकी सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसमें जो भी लेनदेन होता है वह इंक्रिप्टेड फॉर्म में होता है जिससे कि किसी को भी इस लेनदेन के बारे में पता नहीं होता जो पैसा भेज रहा है और जो रिसीव कर रहा है उसी को बस इसके बारे में जानकारी होती है

इस को ट्रांसफर करने के लिए फास्ट इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होनी जरूरी है

इसकी सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसमें फ्लकचुएशन यानी  उतार चढ़ाव काफी ज्यादा होता है कभी एक बिटकॉइन का रेट ज्यादा हो जाता है तो कभी बहुत कम हो जाता है

क्रिप्टो करेंसी को खरीदने और बेचने के लिए आपको इंटरनेट की जानकारी होना जरूरी है

क्रिप्टो करेंसी ko buy कैसे कर सकते हैं आजकल मार्केट में बहुत सारी ऐप है जिनकी सहायता से आप क्रिप्टो करेंसी buy  कर सकते हैं।

 उम्मीद करता हूं कि आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और यदि  आर्टिकल पसंद आता है तो नीचे 

कमेंट करिए

 और कोई आपको सवाल हो तो आप कांटेक्ट के page में जाकर हम से कांटेक्ट कर सकते हैं।

 क्रिप्टोकोर्रेंसी क्या हैं ?

कैप्टोकोर्रेंसी एक डिजिटल करेंसी हैं  जो कि फिजिकल रूप से उपलब्ध नहीं हैं। 

क्रिप्टोकोर्रेंसी कि शुरुवात कब हुई थीं  ?

क्रिप्टोकोर्रेंसी कि शुरुवात 2009 में हुई थीं। 

 बिटकॉइन क्या हैं ?

बिटकॉइन एक क्रिप्टोकोर्रेंसी हैं। 

blockchain क्या हैं 

जो भी बिटकॉइन में ट्रांसजेक्शन होता हैं उसका जो बही खाता बनता हैं वही ब्लॉकचैन हैं। 

स्टेबल कॉइन क्या हैं ?

स्टेबल कॉइन भी एक तरह की क्रिप्टो करेंसी बोल सकते हैं लेकिन इसकी वैल्यू डिपेंड करेगी दूसरी करेंसी पर जैसे usd डॉलर यूरो ।

top cryptocurrency Kyon सी हैं ?

टॉप cryptocurrency बिटकॉइन , एथीरियम ,dogecoin इत्यादि हैं।

What is cryptocurrency in hindi  | and what is bitcoin in hindi | what is blockchain in hindi

Leave a Reply