You are currently viewing how does the internet work
internet working

इस आर्टिकल में how does the internet work इंटरनेट कैसे काम करता हैं। के बारे में जानेगे आजकल बहुत से लोग इंटरनेट का use करते हैं। लेकिन कुछ ही लोग ये बात जानते हैं कि ये काम कैसे करता हैं। ये काफी interesting होगा जानना। so that आप अपनी knowledge को बढ़ा सकते हैं।

What is internet:-

इसका मतलब  नेटवर्क ऑफ़ कम्प्यूटर्स दो या दो से ज्यादा कंप्यूटर को एक साथ कनेक्ट करने को इंटरनेट बोलते हैं। पहले के समय में कम्युनिकेशन के लिए रेडियो ,टेलीविज़न, newspaper ,टेलीफोन इत्यादि का use करते थे।https://computer.howstuffworks.com/internet/basics/internet.htm

इनफार्मेशन लेने के लिए काफी समय लगता था। लेकिन आज के समय में जब से इंटरनेट शुरू हुआ हैं इनफार्मेशन लेना काफी आसान हो गया हैं। इसकी सहायता से secondo के अंदर कोई भी इनफार्मेशन ले सकते हैं। इसमें कई कंप्यूटर एक साथ कनेक्ट हो जाते हैं। इसको इंटरनेट बोलते हैं।

history

पहली बार इसका use अमेरिका के एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी (ARPA) ने डिफेन्स के रिसर्च के लिए 1960 में शुरू किया था जब इसकी शुरुआत हुई थी.

तब इसका use केवल रिसर्च प्रोजेक्ट के लिए किया जाता था। अमेरिका के  universities में रीसर्च के लिए इसका use किया जाता था।

इसके बाद इसके ऊपर काफी रिसर्च करने के बाद इंटरनेट को use करने के लिए शुरू किया गया।1990 के बाद इंटरनेट का use कई देशो में होने लगा।

भारत में इसकी शुरुवात 15 अगस्त 1995 को हुआ। vsnl भारत कि फर्स्ट गवर्नमेंट कंपनी थी।

How does the internet work:-

इंटरनेट optical फाइबर केबल से काम करता हैं ये केबल्स sea के नीचे ship कि हेल्प से बिछाया जाता हैं।

ये केबल्स severs से होते हुआ हर देश से कनेक्ट रहती हैं। कोई भी डिवाइस जो कि इंटरनेट से कनेक्ट होता हैं तो उसका एक I.P एड्रेस होता हैं। इसको ऐसे समझ सकते है जैसे कि किसी के घर का पता।

कोई भी लेटर आपके घर तभी आता है। जब एक fixed एड्रेस देते हैं। इसी तरह से I.P एड्रेस काम करता हैं। जब किसी भी फाइल को सर्वर से आपके मोबाइल या कंप्यूटर तक लाना होता हैं तब इसका use होता हैं। how does the internet work

I.P address:-

I.P एड्रेस आपको आपका इंटरनेट सर्विस provider आपको देता हैं। डोमेन name का use I.P एड्रेस कि तरह होता हैं। since i.p एड्रेस नंबर में होता हैं इसलिए इसको easily access करने के लिए डोमेन name का use होता हैं। ताकि कोई भी

आसानी से एक्सेस कर सके। server एक फास्टर कंप्यूटर होता हैं। जो कि डाटा सेंटर से इनफार्मेशन को फ़ास्ट तरीके से optical फाइबर कि हेल्प से ट्रांसफर कर सके यूजर तक।

optical फाइबर केबल sea के नीचे बिछी हुई होती हैं। जो कि इनफार्मेशन को एक place से दुशरे प्लेस तक ले जाती हैं। optical फाइबर केबल टावर से connected होती हैं या ये मोबाइल से डायरेक्ट router में कनेक्ट कर देते हैं।

ताकि लाइट सिगनल को eletrical सिगनल में बदलकर लैपटॉप या कंप्यूटर में आ जाती हैं। जब हम कोई websites को देखना चाहते हैं तो हम उसका डोमेन name अपने कंप्यूटर या मोबाइल में टाइप करते हैं

उसके बाद वो optical फाइबर के माध्यम से वो इनफार्मेशन गूगल के सर्वर तक आ जाती है इस काम में कई सर्वर का use होता हैं। कभी कभी optical फाइबर केबल अगर ब्रेक हो जाती हैं तब बैकअप के तौर पर दुशरी केबल के रूट से server तक आ जाती हैं।

uses of internet:-

  • इसका कई तरह से use हो रहा हैं। आजकल इसका use लगभग हर field में हो रहा हैं 
  • facebook , whatsapp, telegram etc . इस तरह के सोशल मीडिया का use होता हैं। 
  • online फॉर्म भरने में। 
  • train और plane का टाइम पता लगाने में। 
  • वीडियो देखने और अपलोड करने में जैसे U tube facebook etc . 
  • डाटा और फाइल ट्रांसफर करने में। 
  • लोकेशन चेक करने में। 
  • गूगल मैप से किसी प्लेस का इनफार्मेशन लेने में 
  • OTT ( Ott platform kya hai in Hindi )प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन मूवी ,वीडियो songs ,ऑडियो songs etc में। 
  • वीडियो कॉल करने में जैसे गूगल डुओ , skype etc . 
  • ऑनलाइन बिज़नेस , ऑनलाइन शॉपिंग करने में 
  • आजकल इसका use सोशल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट में भी हो रहा हैं। 

Conclusion of how does the internet work:-

internet आने के बाद दुनिया काफी छोटी हो गई हैं। इसके आने के बाद हम लोग secondo के अन्दर दुनिया के एक कोने से किसी भी देश में आसानी से सम्पर्क कर सकते हैं। वीडियो कॉल के help से बाते कर सकते हैं।

वीडियो conferencing के help से कई लोग एक साथ connect कर सकते हैं। present time को देखते हुए आने वाले समय में इसका use जयदे होगा because अभी भी बहुत से लोग इसका use नहीं करते हैं

इसके साथ ही इस field में काफी jobs भी create होंगी internet ऑफ़ things कि help से आने वाले समय में eletrical instrument , कार, होम appliences etc को कही से भी control कर सकते हैं। कोई भी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। 

how does the internet work

Leave a Reply